कांग्रेस के वादों पर सेना को भी आपत्ति, कहा- देशविरोधी ताकतें होंगी मजबूत

कांग्रेस ने अपने घोषणापत्र में वादा किया है कि सरकार बनने पर वह जम्मू-कश्मीर में सेना की मौजूदगी को कम करेगी. इस पर भारतीय जनता पार्टी ने आपत्ति जताई है, इसके अलावा अब सेना के सूत्रों ने भी इसे गलत बताया है

लोकसभा चुनाव 2019 के लिए जारी किए गए कांग्रेस के घोषणापत्र पर विवाद हो गया है. कांग्रेस ने अपने घोषणापत्र में कहा है कि अगर वह सत्ता में आती हैजो कश्मीर घाटी में सेना की मौजूदगी को घटाएगी और AFSPA पर पुनर्विचार करेगी. सूत्रों की मानें तो कांग्रेस के इस तरह के वादे पर भारतीय सेना को भी आपत्ति है. उनका कहना है कि जम्मू-कश्मीर में सेना की मौजूदगी को कम करना खतरनाक साबित हो सकता है